Breaking News

शक्तिपीठ कड़ा धाम में गंगा स्नान के तुरंत बाद किए जाते हैं मां शीतला के दर्शन

JTV NEWS | Admin

Updated on : October 03, 2019


शक्तिपीठ कड़ा धाम में गंगा स्नान के तुरंत बाद किए जाते हैं मां शीतला के दर्शन


नई दिल्ली।देश की 51 शक्तिपीठों में शामिल शीतला देवी शक्तिपीठ कड़ा धाम में शारदीय नवरात्र के पांचवें दिन मां शीतला देवी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। उत्तर प्रदेश के कौशांबी में स्थित है।
 
पवित्र पावनी गंगा के किनारे स्थित शीतला देवी शक्ति पीठ अनादि काल से शक्ति उपासकों के आस्था का केन्द्र बनी हुई है। पुराणों में वर्णित कथा के अनुसार शिव अर्धांगनी सती का एक हाथ भगवान विष्णु के सुदर्शन चक्र से काटे जाने पर जिस स्थान पर हाथ गिरा था उसे 'करा'अपभ्रंस होने पर' कड़ा' नाम पड़ गया। जिस स्थान पर सती का हाथ गिरा था वही स्थान शीतला देवी शक्ति पीठ बन गई। कालान्तर में द्वापर युग में महाराज युधिष्ठिर ने उक्त स्थान में एक विशाल मंदिर का निमार्ण कराया था। जो वर्तमान में भव्य रूप धारण कर चुका है।
 
शीतला शक्ति पीठ में वर्ष के दोनों नवरात्रों के अवसर पर देश के कोने कोने से लाखों श्रद्धालु यहां आकर मां के दरबार में माथा टेकते है। सुख-समृद्धि के लिए मन्नतें मानते हैं। मां के चरणों में ध्वज-पताका, निशान, नारियल, चुनरी, बतासा, आभूषण, वस्त्र दान करते हैं। गरीब और कन्याओं को भोजन कराने की परम्परा है।
शारदीय नवरात्र के अवसर पर पूरे नवदिन शक्ति उपासकों की भीड़ मां शीतला के दर्शनार्थ उमड़ती है। प्रतिपदा के एक-दो दिन पूर्व से ही भक्त श्रद्धालुओं का आगमन यंहा होने लगता है। कड़ा आने पर गंगा स्नान तदोनरान्त मां शीतला के दर्शन की परम्परा है। मां शीतला के चरणों के समीप बनी जलहरी में गंगा जल व दूध भक्तजन भरते हैं। जलहरी भरने का अंहकार भाव नही होना चाहिए।
मान्यता है कि अहंभाव आने पर जलहरी नही भरी जा सकती है। नवरात्र के अवसर पर नौनिहालों के निरोगी और दीर्घजीवी होने के लिए मां के दरबार में बच्चों के मुण्डन कराने की परम्परा सदियों से जीवित है। नवरात्र में नवविवाहिता जोड़े मां के दर्शनार्थ कड़ा आते हैं।
 
शारदीय नवरात्र के प्रथम दिन एक लाख से अधिक भक्तजन मां शीतला के दर्शन किया। पूजा-अर्चना कर परिक्रमा कर मन्नतें मानी। देर रात से ही मां शीतला के दर्शन के लिए भारी भीड़ कड़ा में जमा हो जाती है। दिनभर सवारी वाहनों से श्रद्धालुओं के आने का तांता लगा रहा। 
 


leave a comment

आज का पोल और पढ़ें...

फेसबुक पर लाइक करें

ट्विटर पर फॉलो करें


व्यापार सभी ख़बरें पढ़ें...

धर्म संस्कृति सभी ख़बरें पढ़ें...